Army chief General Manoj Mukund Naravane

चीन के साथ तनाव के बीच सेना प्रमुख पहुंचे लद्दाख, करेंगे समीक्षा

नई दिल्ली, 3 सितंबर (UITV/आईएएनएस)| भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे सीमा पर चीन के साथ तनाव के बीच ऑपरेशन की तैयारियों की समीक्षा करने के लिए दो दिन के लद्दाख दौरे पर हैं। जनरल नरवणे गुरुवार तड़के लेह पहुंचे और वहां मौजूद वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बातचीत की। सेना के सूत्र ने बताया कि वे फॉरवर्ड लोकेशन पर जा सकते हैं। वे चीन के रणनीतिक प्रयासों को विफल करने के लिए रणनीति पर चर्चा करेंगे।

चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के सैनिक भारतीय इलाकों में घुसपैठ कर रहे हैं। वहीं दोनों देशों के सैन्य प्रतिनिधि तनाव कम करने के लिए बातचीत कर रहे हैं। हाल ही में चीन ने पैंगोंग सो में यथास्थिति को बदलते हुए ऊकसाउ घुसपैठ की है। जिसके बाद भारतीय सैनिकों ने भी कार्रवाई की।

29 अगस्त और 30 अगस्त की मध्यरात्रि को पीएलए के सैनिकों ने पूर्वी लद्दाख में पिछली सहमति का उल्लंघन कर यथास्थिति को बदलने की कोशिश की थी।

अपने दौरे के दौरान नरवणे सर्दियों के लिहाज से भी तमाम स्थितियों की समीक्षा करेंगे। क्योंकि सर्दियों में 12 हजार फीट की उंचाई पर तापमान माइनस 50 डिग्री सेल्सियस तक चला जाता है ऐसे में यहां रसद पहुंचाना भी बड़ी चुनौती होती है। कठोर जलवायु के कारण पूर्वी लद्दाख में तैनात लगभग 35 हजार अतिरिक्त सैनिकों को विशेष कपड़े, आहार और रहने की जगह की आवश्यकता होती है। लद्दाख में जिन जगहों पर हिंसक संघर्ष हुए जैसे पांगोंग झील और गलवान घाटी, वे समुद्र तल से 14 हजार फीट ऊपर हैं।

दोनों देश के बीच पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चार महीने से गतिरोध में चल रहा है। 15 जून को गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिक मारे गए थे। वहीं चीन अपने हताहतों की संख्या नहीं बता रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.