दिल्ली: प्रदूषण कम करने के लिए मंत्रियों ने रेड लाइट पर ऑफ करवाई गाड़ियां

नई दिल्ली, 16 नवंबर (युआईटीवी/आईएएनएस)| दिल्ली सरकार ने ‘रेड लाइट ऑन, गाड़़ी ऑफ’ अभियान का दूसरा फेज सोमवार को आईटीओ से शुरू किया। ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ अभियान का दूसरा चरण 30 नवंबर तक चलेगा। अभियान के पहले चरण में प्रतिदिन लाखों लोगों ने अपनी गाड़ी को रेड लाइट पर बंद किया। दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा, “रेड लाइट पर गाड़ी बंद करने की अभी लोगों को आदत नहीं है, फिर भी लोगों ने सरकार का सहयोग करके अभियान को सफल बनाया। मैं अभियान में साथ देने के लिए लोगों का धन्यवाद देता हूं और लोगों से अपील कि वे अपना सहयोग इसी तरह जारी रखें।”

वहीं उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, “सीएम अरविंद केजरीवाल द्वारा लोगों से लाल बत्ती पर गाड़ी बंद करने की अपील बहुत सार्थक रही है। ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ अभियान पिछले 25 दिन में बहुत शानदार ढंग से चल रहा है। दिवाली पर दिल्ली में तो कम पटाखे चले, लेकिन आस-पास के क्षेत्रों में प्रतिबंध के बावजूद बहुत पटाखे जलाए गए हैं। पिछले सप्ताह हमारे यहां 8500 मामलों के साथ कोरोना पीक पर था, लेकिन अब पिछले दो-तीन दिन से नए केस में गिरावट देखने को मिल रही है।”

दिल्ली सरकार की ओर से ‘रेड लाइट ऑन, गाड़़ी ऑफ’ अभियान का दूसरा चरण 16 नवंबर से शुरू किया गया है। उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने आईटीओ चौराहे के पास पुराने पुलिस मुख्यालय से अभियान की शुरूआत की है।

अभियान के सम्बंध में पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि आंकड़े आए हैं कि लाखों लोगों ने प्रतिदिन अपनी गाड़ी को रेड लाइट पर बंद किया है। रेड लाइट पर गाड़ी बंद करने की अभी लोगों को आदत नहीं है, लेकिन धीरे-धीरे यह आदत बदल रही है।

पर्यावरण मंत्री ने कहा, “जहां तक पटाखों की बात है, तो दिवाली पर दिल्ली सरकार ने किसी भी तरह के पटाखों के जलाने पर प्रतिबंध लगाया था। दिल्ली में लगभग 70 फीसदी लोगों ने पटाखे इस बार नहीं जलाए हैं। मुझे उम्मीद है कि हम इस अभियान को आगे बढ़ाएंगे तो लोगों का भी सहयोग मिलेगा। दिल्ली के अंदर जो पटाखों का धुआं है, वो अगले साल कम होगा। इसी तरह से सरकार हर चीज को लेकर एक स्थाई समाधान की तरफ बढ़ रही है। हम आगामी दिनों में दिल्ली के प्रदूषण को नियंत्रित करने में सफल होंगे।”

इस दौरान, उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, “आप सब जानते हैं कि पूरे उत्तर भारत में प्रदूषण से लोगों की हालत खराब है। इस अभियान के तहत रेड लाइट पर गाड़ी बन्द करने से हमारा कितना डीजल, पेट्रोल, गैस बचता है। साथ ही साथ दिल्ली को प्रदूषण से मुक्ति भी मिलती है।”

उन्होंने कहा कि, “हम सब लोग रेड लाइट पर खड़े होकर जितनी देर इंतजार करते हैं, अगर इंजन बंद करके प्रदूषण को कम करने में अपने हिस्से का योगदान देते हैं, तो हम पाएंगे कि करोड़ों लोग एक समय पर अपना योगदान देकर प्रदूषण को कम कर रहे होंगे। अपनी तरफ से प्रदूषण बढ़ाने की प्रक्रिया को कम कर रहे होंगे। अभियान के 15 दिन बहुत शानदार रहे हैं। आइटीओ चौराहे से अभियान का फेस सोमवार से लांच कर रहे हैं।”

पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा, “कोरोना वायरस भी हमारे यहां पर पिछले सप्ताह 8500 केस के साथ पीक पर था। पिछले दो-तीन दिन से मैं देख रहा हूं कि मामले कम देखने को मिल रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन ने भी कहा था कि 10 दिन में हालात नियंत्रण में आएंगे। मैं उम्मीद करता हूं कि आंकड़े भी उस तरफ इशारा कर रहे हैं।”

लॉकडाउन को लेकर उन्होंने कहा कि, “मुझे नहीं लगता कि दिल्ली में लॉकडाउन की स्थितियां बनेंगी। दुनिया में कोई नहीं जानता है कि कोरोना वायरस पर कब तक काबू में पाया जा सकता है। क्योंकि जब तक इसकी दवाई और वैक्सीन लोगों के बीच नहीं आती है, इसका कोई भी अनुमान लगाना सही नहीं होगा।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *